नई दिल्ली. आतंकी संगठन जमात-उद-दावा का मुखिया और मुंबई हमलों का मास्टरमाइंड हाफिज सईद ने कश्मीर हिंसा के पीछे एक बड़ा बयान दिया है. हाफिज ने कहा है कि कश्मीर हिंसा के पीछे लश्कर-ए-तैयबा का हाथ है. हाफिज ने यह भी कहा कि कश्मीर में जारी हिंसा की अगुवाई लश्कर के कमांडर कर रहे हैं. हाफिज सईद ने ये बयान पाकिस्तान में सार्वजनिक तौर पर दिया है.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
हमेशा खुद को लश्कर से अलग बताने वाले हाफिज ने मुंबई हमलों के बाद पहली बार आतंकी संगठन के बारे में सार्वजनिक तौर पर कुछ कहा है.
 
 
हाफिज सईद ने पाकिस्तान में काला दिवस मनाने के दौरान खुलेआम कहा कि बुरहान वानी ने शहीद होने से पहले मुझसे फोन पर बातचीत की थी. सईद ने यह भी कहा कि बुरहान ने बातचीत के दौरान कहा था कि मेरी जिंदगी की इच्छा थी कि आपसे बात करूं. मेरी ख्वाहिश अब जाकर पूरी हुई. अब मैं सिर्फ शहादत का मुंतजिर हूं. और चंद दिन बात अल्लाहताला ने मौत दे दी. हाफिज ने कहा था कि मुलाकात के दौरान  बुरहान ने भारतीय सेना के बारे में चर्चा की गई थी. 
 
Stay Connected with InKhabar | Android App | Facebook | Twitter
 
हाफिज सईद ने पाकिस्तान सरकार से मांग की है कि बुरहान वानी के मारे जाने के मद्देनजर पाकिस्तान भारत से विदेशी और कारोबारी संबंध पर तत्काल रोक लगाए. उसने कहा कि हमें भारत के साथ कैसे भी व्यापारिक रिश्ते नहीं चाहिए. पाकिस्तान को भारत से अपने उच्चायुक्त वापस बुला लेने चाहिए और भारत के उच्चायुक्त को इस्लामाबाद से निष्कासित कर देना चाहिए. हाफिज ने दावा किया कि पाकिस्तान कश्मीरियों का समर्थक है और उनको हरसंभव साथ देगा.