नई दिल्ली. वेबसाइटों पर लिंग परीक्षण के विज्ञापनों पर केंद्र सरकार ने कहा है कि वह इंटरनेट सर्च इंजन गूगल, याहू और माइक्रोसॉफ्ट के साथ मिलकर समाधान निकालेगी. बता दें कि इस मामले में कंपनियों के साथ सरकार की एक मीटिंग हो चुकी है, जबकि दूसरी मंगलवार को होने वाली है.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
केंद्र ने सुप्रीम कोर्ट से इस मामले में दस दिनों का समय मांगा है. सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र को वक्त देते हुए सुनवाई की अगली तारीख 9 अगस्त तय की है.
 
पिछली सुनवाई में शीर्ष अदालत ने सर्च इंजनों से वेबसाइटों पर लिंग परीक्षण के विज्ञापनों को ब्लॉक करने को कहा था. कोर्ट ने कंपनियों को फटकारते हुए कहा था, ‘आप देश के कानून के प्रति सम्मान नहीं रखते. आप ये नहीं कह सकते कि इस मामले में आप कुछ नहीं कर सकते. इस मुद्दे पर केंद्र सरकार कोई रास्ता निकाले.’
 
Stay Connected with InKhabar | Android App | Facebook | Twitter
 
वहीं केंद्र ने कहा था कि सर्च इंजन कंपनियों के साथ मीटिंग करके इस मामले का हर निकाला जाएगा. कंपनियों ने कहा था कि इन विज्ञापनों पर वो रोक नहीं लगा सकते हैं.