श्रीनगर. जम्मू-कश्मीर की मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ के बड़बोलेपन पर कहा कि ये पाकिस्तान का पाखंड है कि अपने यहां बच्चों को हथियार उठाने पर तो उन्हें सजा देता है, लेकिन कश्मीर में बंदूक उठाने वाले युवाओं को शाबाशी देते हैं, ये हद है.  
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
महबूबा ने आगे कहा कि पाकिस्तान पहले अपने अंदर तो देखे वो खुद आतंकवाद का शिकार है, उनके स्कूलों में बच्चों को मार दिया जाता है. वहां लोग मस्जिदों में जाने से डरते हैं.
 
महबूबा ने क्या कहा
महबूबा मुफ्ती ने कहा है कि ये पाकिस्तान का पाखंड है कि अपने यहां बच्चों को हथियार उठाने पर तो उन्हें ड्रोन से मार डालता है, लेकिन कश्मीर में ऐसा करने वाले युवाओं के बंदूक उठाने की उनकी तारीफ करता है. महबूबा ने आगे कहा कि पाकिस्तान खुद आतंकवाद का शिकार है, उनके स्कूलों में बच्चों को मार दिया जाता है. वहां लोग मस्जिदों में जाने से डरते हैं. उन्होंने कहा कि पाकिस्तान अपनी नीतियों में बदलाव करे.
 
Stay Connected with InKhabar | Android App | Facebook | Twitter
 
प्रयोग के लिए हटे AFSPA
कश्मीर दौरे के दूसरे दिन गृह मंत्री राजनाथ सिंह महबूबा मुफ्ती से मिले. महबूबा ने कहा कि हम ये नहीं कह रहे हैं कि AFSPA को तुरंत हटाया जाए, लेकिन कुछ इलाकों में AFSPA हटाने के बाद वहां की स्थिती पर नजर बनाए रखनी होगी. अगर सफल रहा तो इसे पूरे राज्य से हटा सकते हैं. हालांकि फिलहाल इसे हटाने में किसी तरह की कोई जल्दबाजी नहीं की जाएगी.