नई दिल्ली. केंद्रीय मंत्री जनरल वीके सिंह ने कश्मीर में जारी हिंसा के लिए वहां के बुजर्गों को जिम्मेदार ठहराया है. वीके सिंह ने अपने फेसबुक पोस्ट में आतंकी सगंठन हिजबुल मुजाहिद्दीन का कमांडर बुरहान वानी के पिता का जिक्र किया. उन्होंने लिखा है कि बुरहान वानी के पिता से सवाल पूछा गया कि कई लड़कों के साथ पुलिस बदसलूकी करती है, सभी तो आतंकवादी नहीं बन जाते. आपका बेटा क्यों आतंकी बना? 
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
क्या लिखा है वीके सिंह ने?
बुरहान वानी के पिता से सवाल पूछा गया कि कई लड़कों के साथ पुलिस बदसलूकी करती है, सभी तो आतंकवादी नहीं बन जाते. आपका बेटा क्यों आतंकी बना? उनका जवाब बड़ा साफ था. स्कूल प्रिंसिपल मुजफ्फर वानी बोले, ये गैरत की बात है. कोई सहन कर लेता है. जो सहन नहीं करता वो बुरहान की तरह हथियार उठाता है.
 
Stay Connected with InKhabar | Android App | Facebook | Twitter
 
जिस बचपन के संरक्षक बुज़ुर्ग हैं, वे उस बचपन को दंगों में सबसे आगे खड़ा कर रहे हैं ताकि पुलिस भी प्रत्युत्तर देने से हिचकिचाए. माँ बाप के फक्र के लिए कश्मीर में बच्चे IIT नहीं, पड़ोसी मुल्क के आतंकवादी शिविर में घुसना चाहते हैं. गीली मिट्टी से जहाँ सुन्दर मूर्ती बननी चाहिए थी, वहाँ नुकीले शूल बनाये जा रहे हैं. इसलिए मैं कश्मीर के बुज़ुर्गों से नाराज़ हूँ. क्योंकि उन्होंने केसर की पौध को अफीम बनने से नहीं रोका.