चेन्नई. बंगाल की खाड़ी के ऊपर से लापता हुए भारतीय एयरफोर्स (IAF) के विमान AN-32 की तलाश दूसरे दिन भी जारी है. रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर तलाशी अभियान का जायजा लेने के लिए चैन्नई पहुंच गए हैं. बता दें कि चेन्नई से Port Blair जाते वक्त विमान अचानक से लापता हो गया. विमान में चार अधिकारी समेत कुल 29 लोग सवार थे. 
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
रक्षा सूत्रों ने बताया कि तलाश पूरे जोरों से जारी है और अभी तक कुछ पता नहीं चल पाया है. तलाशी अभियान में एक पनडुब्बी, 8 विमान और 13 पोल लगाए गए हैं. पर्रिकर ने यहां पहुंचकर इस पूरे अभियान की पूरी जानकारी प्राप्त की. उन्होंने संभावित ईलाकों का हवाई सर्वेक्षण भी किया. घटना पर नजर रख रहे अधिकारियों ने पर्रिकर को खोजबीन के संबंध में सभी सूचनाओं से अवगत कराया. 
 
 
आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू ने विशाखापट्टनम में मिसिंग एयरमैन के परिवारों से मुलाकात की. उन्होंने मदद का भरोसा दिया वहीं दूसरी जगह लापता लोगों के घर में उनके परिजन इंतजार कर रहे हैं.
 
Stay Connected with InKhabar | Android App | Facebook | Twitter
 
Air Force के AN-32 विमान ने चेन्नई के पास तांबराम हवाई अड्डे से Port Blair के लिए सुबह 8:30 बजे उड़ान भरी थी, लेकिन 8:46 बजे के बाद से विमान से कोई संपर्क नहीं हो सका. आखिरी संपर्क 8:46 बजे किया गया था. Air Force, Navy और कोस्ट गार्ड की टीमें खोज अभियान में जुट गई हैं. नौसेना के प्रवक्ता डीके शर्मा ने बताया है कि AN-32 का कुछ पता अभी तक नहीं चला है, लेकिन हम खोज रहे हैं.