नई दिल्ली. आम आदमी पार्टी (AAP) के सांसद भगवंत मान की ओर से संसद परिसक का वीडियो बनाने के मुद्दे पर शुक्रवार को संसद के दोनों सदनों में जमकर हंगामा हुआ. लोकसभा स्पीकर सुमित्रा महाजन ने वीडीयो पर भंगवत मान से नाराजगी जताई. आप नेता ने वीडियो बनाने पर सुमित्रा महाजन को अपनी ओर से सफाई दी. भगवंत मान के विडियो बनाने के मुद्दे पर हंगामे के बाद लोकसभा 25 जुलाई तक के लिए स्थगित कर दी गई है.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
क्या कहा स्पीकर ने
सुमित्रा महाजन ने भगवंत मान के वीडियो पर सदन को भरोसा दिलाया कि ये मामला बेहद गंभीर है और मैं समझती हूं कि इस मामले में उचित कार्रवाई की जरुरत है. उन्होंने ये भी कहा कि संसद की सुरक्षा में एक बार 13 लोगों ने अपनी जान गंवाई है.
 
FIR दर्ज कराने की मांग
केंद्र सरकार ने मान के लाइव वीडियो पर अपने रुख साफ करते हुए कहा कि यह संसद से जुड़ी सुरक्षा व्यवस्था से जुड़ी जानकारी सार्वजनिक करने जैसा है. संसदिय कार्य मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने कहा कि संसद के प्रवेश से लेकर अंदर तक का वीडियो बनाना यह नियम कायदों के खिलाफ है. इस वीडियो से आतंकवादियों को मदद मिल सकती है. वहीं शिरोमणी अकाली दल ने एफआईआर दर्ज कराने की मांग की है.
 
क्या है मामला?
बता दें कि आप नेता भगवंत मान ने संसद के प्रवेश से लेकर अंदर तक का वीडियो बनाया था. इसको लेकर विभिन्न दलों के सांसदों ने उनकी आलोचना करते हुए उनके कृत्य को सुरक्षा का उल्लंघन बताया. बीजेपी-कांग्रेस ने वीडियो को सुरक्षा के मद्देनजर गलत बताया है.
 
कांग्रेस ने भी बताया गलत
कांग्रेस नेता पीएल पुनिया ने कहा है कि भंगवत मान द्वारा संसद के प्रवेश से लेकर अंदर कर का जो वीडियो अपलोड किया है वह आपत्तिजनक है. ऐसी हरकत से संसद की सुरक्षा को खतरा पहुंच सकता है. 
 
मांगी माफी
मैंने जो दिखाया है वो गूगल अर्थ पर तो पहले से सबकुछ है. आजकल डिजीटिल का जमाना है, मैं नहीं मानता कि मैने ऐसा कोई काम किया है जो संसद की सूरक्षा पर कोई खतरा पहुंचे. मुझे ये भी नहीं लगता कि मैंने वीडियो बनाकर कोई गलत काम किया है. आप सांसद ने कहा कि मैं बिना शर्त माफी मांगता हूं और यह भी विश्वास दिलाता हूं कि भविष्य में ऐसी गलती दोबारा नहीं होगी.
 
Stay Connected with InKhabar | Android App | Facebook | Twitter
 
भगवंत मान ने अपने बचाव में कहा कि मुझे नहीं लगता कि मैंने कोई गलती की है. मैंने अपने वीडियो पोस्‍ट में ये बताया है कि संसद में प्रश्‍नकाल में सवाल कैसे उठाया जाता हैं, उसकी प्रकिया क्या होती है. लोकतंत्र में लोग बड़े हैं नेता नहीं है. इस बात से ही मैंने वीडियो शूरू की थी. किसका लकी ड्रॉ निकलता है. कौन-कौन वहां बोलेंगे अगर ये बताना गलत है तो मैं तो हैरान हूं इस बात से लोगों ने हमें चून कर भेजा है. क्‍या मेरी वीडियो से संसद खतरे में आ गई है? मैं कल एक वीडियो पोस्‍ट करूंगा. मुझे नोटिस मिलने दीजिए.