ऊना. गुजरात के ऊना में दलितों की पिटाई पर अब सियासत तेज होती दिखाई दे रही है. पहले कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी और अब दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पीड़ित दलित युवकों और उनके परिवार वालों से मिलने ऊना पहुंच गए हैं. केजरीवाल ने ऊना में बीजेपी पर जोरदार हमला किया है. उन्होंने कहा है कि बीजेपी गुजरात में दलितों को दबाना चाहती है, इसके लिए सबको एक साथ आकर आंदोलन करना चाहिए.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
दिल्ली के CM केजरीवाल ने कहा कि बीजेपी आंदोलन करने वालों को दबाने की कोशिश कर रही है, जो भी आंदोलन कर रहा है उसे जेल में डाला जा रहा है. उन्होंने पाटीदार आंदोलन का उदाहरण देते हुए कहा कि बीजेपी अब दमन की नीति पर उतर आई है, इससे पहले भी पाटीदार आंदोलन करने वाले लोगों को जेल में डाला गया था.
 
AAP प्रमुख केजरीवाल ने कहा कि ऊना में प्रशासन की शह पर दलितों की पिटाई की गई थी. उन्होंने कहा, ‘पीड़ित दलित युवकों को जल्द से जल्द नौकरी और मुआवजा मिलना चाहिए और जो भी इस घटना में दोषी है उसे कड़ी से कड़ी सजा दी जानी चाहिए.’ 
 
बता दें कि कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी गुरुवार को पीड़ित लोगों से मिलने के लिए ऊना पहुंचे थे. वहां उन्होंने पीड़ितों को जरूरी मदद देने का आश्वासन दिया है. 
 
Stay Connected with InKhabar | Android App | Facebook | Twitter
 
क्या है मामला ?
 
गुजरात के उना क्षेत्र में गोहत्या के आरोप में 4 दलित युवकों की बेरहमी से पिटाई कर दी गई. जिसके विरोध में दलित समाज के लोगों का गुस्सा गुजरात में देखने को मिला. इस घटना के बारे में लोगों को कहना था कि जिस गाय की चमड़ी वे निकाल रहे थे वह पहले से ही मरी हुई थी.