नई दिल्ली. केंद्र सरकार प्रत्येक जिले में आयुष अस्पताल और योग स्वास्थ्य केंद्र खोलने की योजना बना रही है. इस बारे में उसने विभिन्न राज्य सरकारों से प्रस्ताव मांगे हैं. आयुष राज्यमंत्री श्रीपद नाइक ने कहा कि इसके अलावा सरकार सभी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों और उपकेंद्रों पर एक आयुष चिकित्सक तैनात करने की भी संभावना तलाश रही है. 
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
श्रीपद नाइक ने कहा कि दो प्रस्तावित आयुष केंद्रों को अखिल भारतीय यूनानी संस्थान और अखिल भारतीय होम्योपैथी संस्थानों के लिए जमीन आवंटित कर दी गई है. सरकार ने यूनानी केंद्र के लिए गाजियाबाद और होम्योपैथी केंद्र के लिए नरेला में जमीन दी है. 
 
Stay Connected with InKhabar | Android App | Facebook | Twitter
 
पिछले महीने केंद्रीय स्वास्थय मंत्री जेपी नड्डा ने एम्स में सेंटर फॉर इंटीग्रेटी मेडिसिन एंड रिसर्च की शुरुआत की थी. राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली स्थित अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) देश का पहला ऐसा अस्पताल बन गया है, जहां एलोपैथी के साथ-साथ अब योग और आयुर्वेद से मरीजों का इलाज होगा.