नई दिल्ली. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के गोरखपुर दौरे के दो दिन पहले कैबिनेट ने वहां नया अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) स्थापित करने के प्रस्ताव को मंजूरी दे दी. प्रधानमंत्री शुक्रवार को वहां एक जनसभा को संबोधित करेंगे. बुधवार को प्रधानमंत्री की अध्यक्षता में हुई कैबिनेट की बैठक में ये फैसला लिया गया. नए एम्स का गठन प्रधानमंत्री स्वास्थ्य सुरक्षा योजना के तहत किया जाएगा. सरकार का अनुमान है कि इस पर कुल 1011 करोड़ रुपये खर्च होंगे.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
इस नए एम्स में 750 बेड वाले अस्पताल का निर्माण किया जाएगा. इसके निर्माण से पूर्व उत्तर प्रदेश के लोगों को बेहतर स्वास्थय सुविधाएं मुहैया हो सकेंगी.
 
Stay Connected with InKhabar | Android App | Facebook | Twitter
 
एक आधिकारिक बयान के अनुसार नए एम्स की स्थापना आबादी को सुपर स्पेशिएलिटी स्वास्थ्य देखभाल प्रदान करने के उद्देश्य को पूरा करेगी. डॉक्टरों और स्वास्थ्यकर्मियों का बड़ा पूल तैयार होगा, जो राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के तहत तैयार की जा रही प्राथमिक और द्वितीयक स्तर की सुविधाओं के लिए उपलब्ध हो सकते हैं.