नई दिल्ली. कश्मीर में सेना के साथ मुठभेड़ में मारा गया हिजबुल मुजाहिदीन कमांडर बुरहान वानी का आतंकी संगठन जमात-उद-दावा का मुखिया और मुंबई हमलों का मास्टरमाइंड हाफिज सईद से कनेक्शन सामने आ गया है.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
हाफिज सईद ने पाकिस्तान में एक रैली के दौरान कहा कि बुरहान ने फोन कर मुलाकात की ईच्छा जताई थी. मुझसे मिलने के बाद बुरहान को शहादत मिली. हाफिज ने कहा था कि मुलाकात के दौरान  बुरहान ने भारतीय सेना के बारे में चर्चा की गई थी. सईद के इस खुलासे के बाद बुरहान वानी का पाकिस्तान और आतंकियों से संबंध का पर्दाफाश हो चुका है.
 
क्या कहा सईद ने ?
रिपोर्ट्स के अनुसार हाफिज सईद ने पाकिस्तान में काला दिवस मनाने के दौरान खुलेआम कहा कि बुरहान ने शहीद होने से पहले मुझसे फोन पर बातचीत की थी. इतना ही नहीं सईद ने यह भी कहा कि उसने बातचीत के दौरान कहा था कि मेरी जिंदगी की इच्छा थी कि आपसे बात करूं. अब जाकर मेरी ख्वाहिश पूरी हुई. अब मैं सिर्फ शहादत का मुंतजिर हूं. और चंद दिन बात अल्लाहताला ने मौत दे दी. 
 
Stay Connected with InKhabar | Android App | Facebook | Twitter
 
जांच में खुलासा
खुलासे के बाद सुरक्षा एजेंसियों द्वारा किए गए खुलासे में यह भी सामने आया है कि एनकाउंटर से पहले बुरहान के नंबर से पाकिस्तान में कई कॉल किए गए थे, जिसके बाद यह आशंका जताई जा रही है कि यह नंबर हाफिद सईद का हो सकता है. बता दें कि सईद ने बुरहान के मारे जाने के बाद कई शोक सभाएं भी की हैं.