नई दिल्ली. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने बिहार को विशेष राज्य का दर्जा देने की मांग की है. शनिवार को दिल्ली में हुए अंतर-राज्यीय परिषद की बैठक में नीतीश ने ये मांग प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के सामने उठाई.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
नीतीश ने शराबबंदी को भी लेकर अपनी बात रखी. नीतीश ने इसे अन्य राज्यों में भी लागू किये जाने की बात कही. उन्होंने कहा कि केंद्र को राज्यों को उनका हक देने नें राजनीति नहीं करनी चाहिए. 
 
नीतीश ने कहा कि बिहार को पिछड़ेपन से निकालने के लिए ये विशेष राज्य का दर्जा जरूरी है. उन्होंने कहा कि राज्य और केंद्र में समन्वयन के साथ ही बिहार के विकास के लिए पैकेज की जरूरत है. नीतीश ने कहा कि जब तक बिहार को स्पेशल पैकेज नहीं मिलता वह पिछड़ेपन का कलंक ढोता रहेगा. इससे पहले बैठक के बाद सीएम और पीएम एक साथ गर्मजोशी से मिले.
 
Stay Connected with InKhabar | Android App | Facebook | Twitter
 
बता दें कि नीतीश कुमार यूपीए सरकार के दौरान से ही बिहार के लिए विशेष दर्जे की मांग कर रहे हैं. इसे लेकर वे आंदोलन भी कर चुके हैं. एनडीए से अलग होने के बाद उन्होंने 2014 के लोकसभा चुनाव में कहा भी था कि जो बिहार को विशेष राज्य का दर्जा देगा जेडीयू उसके साथ जाएगी.