नई दिल्ली. संयुक्त राष्ट्र में भारत ने उस वक्त पाकिस्तान को खरी-खरी सुना दी जब उसने बुरहान वानी का मुद्दा उठाया. भारत ने पाकिस्तान को करारा जवाब देते हुए कहा कि आतंकवाद पाकिस्तान की स्टेट पॉलिसी का हिस्सा है.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
बुधवार को संयुक्त राष्ट्र में मानवाधिकार मुद्दे पर हुई उच्च स्तरीय बैठक के दौरान पाकिस्तान ने कश्मीर का मुद्दा उठाया. यूएन में पाकिस्तान के हाई कमिश्नर मलीहा लोधी ने बुरहान वानी को कश्मीर का लीडर बताया था, जिस पर यूएन में भारत के प्रतिनिधि सैय्यद अकबरुद्दीन ने पाकिस्तान की धज्जियां उड़ा दीं.
 
अकबरुद्दीन ने कहा कि पाकिस्तान ऐसा देश है, जहां आतंकवाद की नीति का पालन किया जा रहा है. उन्होंने पाक को लताड़ते हुए कहा, ‘पाकिस्तान अपना ट्रेक रिकॉर्ड देखे. वह खुद आतंकवाद को पनाह देता है. वह इंटरनेशनल कम्यूनिटी को भरोसे में लेने में नाकाम रहा है.’
 
उन्होंने कहा कि भारत पूरी तरह से सहिष्णु देश है और मानवाधिकारों के लिए प्रतिबद्ध है. मानवाधिकारों की रक्षा करना भारत के सिद्धांतों में रहा है. 
 
Stay Connected with InKhabar | Android App | Facebook | Twitter
 
बासित को भारत भेज सकता है समन
 
आतंकी बुरहान वानी के एनकाउंटर के सिलसिले में भारत पाक उच्चायुक्त अब्दुल बासित को समन भेज सकता है. इसमें बासित से हिजबुल मुजाहिद्दीन आतंकी बुरहान वानी के आतंकी हमले में शामिल होने से जुड़े सबूत मांगे जा सकते हैं.