नई दिल्ली. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के निर्दष पर डॉक्टरों की एक टीम श्रीनगर भेजी गई है. वही आईबी से मिली जानकारी के मुताबिक अगले 48 घंटे में घाटी के हालात और खराब हो सकते हैं. खुफिया एजेंसियों के मुताबिक पाक समर्थित आतंकी ग्रुप अगले दो दिनों में आग फिर से भड़काने की कोशिश करेंगे.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
आतंकी सगंठन हिजबुल मुजाहिद्दीन का कमांडर बुरहान वानी जम्मू-कश्मीर पुलिस ने एनकाउंटर में मारे जाने के बाद श्रीनगर में अलगावादियों ने जमकर विरोध प्रदर्शन हो रहा है. इस विरोध प्रदर्शन में सुरक्षा बलों और प्रदर्शनकारियों के बीच झड़प में 37 लोगों की मौत हो गई है और 1200 के करीब लोग घायल हो चुके हैं जिनमें 200 पुलिसकर्मी हैं. 10 जिलों में अभी भी कर्फ्यू जारी है. 
 
 
एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया घाटी के 10 जिलों के सभी प्रमुख कस्बों और श्रीनगर के सभी पुराने क्षेत्रों में कर्फ्यू जारी रहेगा. घाटी में नौ जुलाई से ही कर्फ्यू लगा है. यहां आठ जुलाई को हिजबुल कमांडर बुरहान वानी और उसके दो सहयोगियों की सुरक्षाबलों के साथ मुठभेड़ में मारे जाने के बाद से ही उपजी हिंसा के मद्देनजर कर्फ्यू लगाया गया है.
 
 
अनंतनाग जिले के हारनाग क्षेत्र में बीते बुधवार को उग्र भीड़ द्वारा सेना के वाहन को आग लगाने की कोशिश के दौरान एक प्रदर्शनकारी हिलाल अहमद शाह की मौत हो गई. इन छह दिनों में हिंसा के दौरान मृतकों की संख्या बढ़कर 37 हो गई है. गुस्साई भीड़ ने अनंतनाग जिले में बुधवार को एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी के वाहन पर हमला किया, लेकिन स्थिति पर जल्द ही काबू पा लिया गया.
 
 
अलगाववादी नेता सैयद अली गिलानी और मीरवाइज उमर फारुख को बुधवार को एहतियातन हिरासत में लिया गया. पुलिस अधिकारी ने बताया गिलानी और मीरवाइज को उनके घरों में ले जाया गया. उन्हें घर में नजरबंद रखा गया है. उत्तरी कश्मीर के बारामूला और जम्मू के बनिहाल के बीच रेल सेवाएं गुरुवार को छठे दिन भी रद्द रही.