नई दिल्ली. हिन्दुस्तान की पटरी पर आज एक ऐसा इतिहास रचा गया जिसने रफ्तार की दुनिया में देश को अगली सदी में पहुंचा दिया है. जो सपना पीएम मोदी ने देखा वो आज साकार हो गया, जिसकी चाहत पूरे देश ने की. वो आज पूरी हो गई.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
जी हां, आज हम बात कर रहे हैं स्पेन से आई उस तूफानी ट्रेन ‘टेल्गो’ की जिसने रफ्तार के मामले में राजधानी, शताब्दी और गतिमान एक्सप्रेस को भी पीछे छोड़ दिया है.
 
Stay Connected with InKhabar | Android App | Facebook | Twitter
 
टेल्गो ने भारत में अब तक की सबसे तेज ट्रेन गतिमान एक्सप्रेस को भी पीछे छोड़ दिया है. बुधवार को टेल्गो सुबह 11.28 बजे मथुरा स्टेशन से रवाना हुई और 37 मिनट में दोपहर 12.05 बजे पलवल स्टेशन पहुंची. ट्रेन के लोको पायलट सुनील कुमार पाठक ने बताया कि इसकी स्‍पीड 180 किमी प्रति घंटा रही. इस स्‍पीड से टेल्गो ट्रेन को भारतीय डीजल इंजन डब्ल्यूडीसी-4 ने दौड़ाया.