नई दिल्ली. विश्व हिंदू परिषद की नेता साध्वी प्राची ने एक बार फिर विवादित बयान दिया है. साध्वी ने ये बयान अपने भाषणों से विवादों में आए इस्लामिक उपदेशक जाकिर नाईक के खिलाफ दिया. जाकिर नाईक ने ऐलान किया कि जो भी जाकिर का सिर काटकर लाएगा उसको 50 लाख का ईनाम दिया जाएगा.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
उन्होंने कहा कि जो मुस्लिम धर्मगुरु उसका विरोध कर रहे हैं, वह सिर्फ नौटंकी कर रहे हैं. सभी धर्मगुरुओं के साथ-साथ मदरसों की जांच होनी चाहिए.
 
क्या कहा प्राची ने
साध्वी प्राची ने कहा है कि जाकिर नाइक हिंदुस्तान का सबसे बड़ा दुश्मन है. वह धर्मगुरु बनकर आतंकवाद की पौध तैयार कर रहा है. इन धर्मगुरुओं की.. मुस्लिम धर्मगुरुओं की, सबकी जांच होनी चाहिए. ये मुस्लिम आज फतवा जारी क्यों नहीं कर रहे? और मैं निवेदन करना चाहती हूं कि सऊदी अरब कोई भी व्यक्ति जाकर के, इसकी (जाकिर नाइक) गर्दन काटकर के लाए. हिंदुस्तान के सबसे बड़े पेड़ पर लटकाए तो मैं उसको 50 लाख इनाम दूंगी. 
 
Stay Connected with InKhabar | Android App | Facebook | Twitter
 
‘दिग्विजय आतंकवादियों के गुरू’
साध्वी प्राची ने कांग्रेसी नेता दिग्विजय सिंह पर भी निशाना साधा. साध्वी ने कहा कि दिग्विजय सिर्फ दिखाने के लिए राजनीति कर रहे हैं. असलियत में वह आतंकवादियों के गुरू हैं. साध्वी ने ओसामा, जाकिर नाइक जैसे लोगों को शांतिदूत कहा. इससे यह बात साबित होती है कि उनका कहीं ना कहीं आतंकियों से कनेक्शन है. उसकी भी जांच होनी चाहिए.