नई दिल्ली. मोदी सरकार में नजमा हेपतुल्ला के इस्तीफे के बाद मुख्तार अब्बास नकवी को अल्पसंख्यक मामलों के मंत्रालय का राज्यमंत्री का स्वतंत्र प्रभार दिया गया है. नकवी का कहना है कि आखिरी पायदान पर खड़े व्यक्ति का विकास करना उनकी प्राथमिकता है. उन्होंने यह बात इंडिया न्यूज़ को दिए अपने एक इंटरव्यू में कही है.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
नकवी ने कहा, ‘प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने काफी महत्वपूर्ण जिम्मेदारी दी है, जिसे हम पूरी ईमानदारी से निभाएंगे. हमारी कोशिश रहेगी कि आखिरी पायदान पर खड़े व्यक्ति तक विकास की रोशनी पहुंचे.’ उन्होंने कहा कि हमारा संकल्प है कि विकास और भी तेज गती से हो और सबका विकास हो. 
 
 
जीएसटी बिल पास कराने के बारे में नकवी का कहना है कि इस मानसून सत्र में कई महत्वपूर्ण बिल पास कराने की हमारी कोशिश रहेगी, जिनमें से एक जीएसटी बिल भी है. उन्होंने कहा, ‘हमें पूरा विश्वास है कि मानसून सत्र सफल रहेगा. जिसमें जीएसटी बिल भी पास होगा.’
 
Stay Connected with InKhabar | Android App | Facebook | Twitter
 
बता दें कि नकवी के पास संसदीय कार्यमंत्री का भी पद है. नजमा ने अपने इस्तीफे पर कहा कि उन्होंने अपने नीजि कारणों की वजह से इस्तीफा दिया है.