नई दिल्ली. ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (AIMIM) के प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने विवादित भाषणों से आतंक को बढ़ावा देने के आरोपी जाकिर नाईक का समर्थन किया है. ओवैसी ने जाकिर नाईक के मीडिया ट्रायल की आलोचना भी की है.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
वहीं ओवैसी के विधायक इम्तियाज जलील ने कहा है कि जाकिर पर किसी कोर्ट का फैसला नहीं आया है फिर भी उनके खिलाफ माहौल बनाया जा रहा है. इम्तियाज जलील महाराष्ट्र के औरंगाबाद से विधायक हैं.
 
 
उन्होंने ने कहा, ”हमारी पार्टी देश के संविधान का पालन करती है और जब तक किसी पर गुनाह साबित नहीं हो जाता उसे अपराधी नहीं मानना चाहिए. देश के कई राष्ट्रीय चैनलों ने मुहिम चालाकर जाकिर नाईक के खिलाफ निर्णय दे दिया है. जबकि अभी तक जाकिर नाईक के खिलाफ केस तक रजिस्टर नहीं हुआ है. मीडिया किसी को आंतक का समर्थक कैसे बता सकती है.”
 
 
इमतियाज ने कहा, ”हमारी पार्टी देश के संविधान का पालन करती है और जब तक किसी पर गुनाह साबित नहीं हो जाता उसे अपराधी नहीं मानना चाहिए. देश के कई राष्ट्रीय चैनलों ने मुहिम चालाकर जाकिर नाईक के खिलाफ निर्णय दे दिया है. जबकि अभी तक जाकिर नाईक के खिलाफ केस तक रजिस्टर नहीं हुआ है. मीडिया किसी को आंतक का समर्थक कैसे बता सकती है.”
 
Stay Connected with InKhabar | Android App | Facebook | Twitter
 
जाकिर नाईक को सोमवार सुबह भारत लौटना था लेकिन गिरफ्तारी के डर से वो नहीं लौटे. जाकिर को सोमवार सुबह आठ बजे मक्का से भारत लौटना था. बता दें विवादों में आने के बाद जाकिर ने खुद बताया था कि वह 11 जुलाई को भारत लौटेंगे और 12 जुलाई को अपने उपर लगे आरोपों पर प्रेस कॉन्फ्रेंस करके सफाई देंगे. इस मामले में जाकिर नाईक ने बकायदा एक वीडियो शूट करके बताया था.