नई दिल्ली. कश्मीर घाटी में शांति बहाली के लिए केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने मुस्लिम धर्मगुरुओं के एक समूह से मुलाकात कर चर्चा की. बीते सप्ताह भारतीय सेना के हाथों हिजबुल मुजाहिदीन के कमांडर बुरहान वानी की मौत के बाद से कश्मीर घाटी में हिंसक विरोध-प्रदर्शन भड़क उठा, जिसमें अब तक 32 से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
धर्मगुरुओं ने बैठक के बाद कहा कि गृहमंत्री से मुलाकात कर वे संतुष्ट हैं और गृहमंत्री ने उनसे कश्मीर घाटी में शांति स्थापित करने के लिए हरसंभव मदद का आश्वासन दिया है. ऑल इंडिया ऑर्गनाइजेशन ऑफ इमाम्स ऑफ मॉस्क्स के उमर अहम इलियासी ने बैठक के बाद कहा कि वे कश्मीर जाएंगे और आम लोगों खासकर धार्मिक नेताओं से कश्मीर घाटी में स्थिति सामान्य करने में मदद करने की अपील करेंगे. 
 
उन्होंने कहा, “देश के किसी भी अन्य हिस्से में रहने वाले मुस्लिमों की तरह कश्मीरवासी भी हमारे भाई हैं. हम उनके साथ हैं और उनसे स्थिति को सामान्य बनाने और शांति स्थापित करने की अपील करेंगे. इलियासी ने आगे कहा कि वह अन्य मुस्लिम धर्मगुरुओं के साथ जम्मू-कश्मीर की मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती से भी मुलाकात करेंगे.
 
Stay Connected with InKhabar | Android App | Facebook | Twitter
 
इससे पहले बीते सोमवार को राजनाथ सिंह ने कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला सहित विपक्षी दल के नेताओं से मुलाकात की और कश्मीर घाटी में शांति बहाल करने के उपायों पर चर्चा की थी.