अहमदाबाद. पटेल आरक्षण आंदोलन के नेता हार्दिक पटेल की मंगलवार को सूरत जेल से रिहाई हो सकती है. इस मौके पर उसके दो लाख समर्थक जुटने की संभावना है. इससे पहले गुजरात हाईकोर्ट ने हार्दिक को विसनगर हिंसा मामले में जमानत दे दी लेकिन 9 महिने तक मेहसाणा जिले में प्रवेश नहीं करने पर पांबदी लगाई है.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
दरअसल कोर्ट ने विसनगर में बीजेपी एमएलए रिषिकेश पटेल के ऑफिस पर अटैक करने जैसे मामलों में हार्दिक की जमानत अर्जी पर सुनवाई के दौरान यह फैसल दिया था.
 
 
पहले भी मिली दूसरे मामलों में जमानत
गुजरात हाईकोर्ट ने पाटीदार आंदोलन की अगुवाई करने वाले नेता हार्दिक पटेल को अहमदाबाद और सूरत के राजद्रोह मामले में सशर्त जमानत दे दी है. हार्दिक को 6 महीने गुजरात से बाहर ही रहना होगा. राजद्रोह के आरोप में हार्दिक पटेल अक्टूबर 2015 से जेल में बंद हैं.