नई दिल्ली. कश्मीर के हालात को देखते हुए गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने अमेरिकी दौरा रद्द कर दिया है. यह फैसला करते हुए उन्होंने कहा कि इस वक्त उनके लिए कश्‍मीर ज्यादा जरूरी है. बता दें कि राजनाथ 17 जुलाई को अपनी पांच दिवसीय अमेरिका यात्रा के लिए रवाना होने वाले थे. बताया जा रहा है कि अब उनका दौरा सिंतबर में हो सकता है.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
आतंकवाद पर होनी थी बात
अमेरिका के साथ उन्‍हें आतंकवाद के खिलाफ इंटेलीजेंस शेयरिंग और दोनों देशों के नागरिकों की यात्रा जैसे अहम मुद्दों पर बात करनी थी. राजनाथ सिंह के साथ भारत से एक प्रतिनिधिमंडल भी जाने वाला था. इस प्रतिनिधिमंडल को वाशिंगटन में होमलैंड सिक्‍योरिटी एजेंसी के साथ चर्चा करनी थी. इस मीटिंग को होमलैंड सिक्‍योरिटी के सेक्रेटरी और इसके मुखिया जेह चार्ल्‍स जॉनसन लीड करने वाले थे. फिलहाल अभी उनके दौरे की अगली तारीख तय नहीं हुई है. 
 
 
अब तक 30 लोगों की मौत
आतंकी सगंठन हिजबुल मुजाहिद्दीन का कमांडर बुरहान वानी जम्मू-कश्मीर पुलिस ने एनकाउंटर में मारे जाने के बाद श्रीनगर में अलगावादियों ने जमकर विरोध प्रदर्शन किया. इस विरोध प्रदर्शन में सुरक्षा बलों और प्रदर्शनकारियों के बीच झड़प में 30 लोगों की मौत हो गई है और 100 जवानों समेत 300 से ज्यादा जख्मी हो गए हैं.
 
 
पाकिस्तान प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने बुरहान की मौत पर दुख जाहिर किया है और भारतीय सैन्य कार्रवाई की निंदा की है. नवाज के कार्यालय की ओर से बयान जारी किया गया है कि यह दुखद है कि आम नागरिकों के विरुद्ध भारी संख्या में फौज का इस्तेमाल किया जा रहा है. सेना के कड़े रुख का विरोध करते हुए नवाज की ओर से बयान आया है कि इस तरह के दमनकारी कदम जम्मू-कश्मीर की जनता को संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के संकल्पों के आलोक में आत्म निर्णय के उनके अधिकारों का इस्तेमाल करने से विचलित नहीं कर सकते हैं.