नई दिल्ली. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने डॉ नाइक का जिक्र नहीं करते हुए भी उनको चेतावनी दी है. पीएम मोदी ने कहा कि घृणा और हिंसा का प्रचार करने वाले हमारे समाज के लिए खतरा उत्पन्न कर रहे हैं. भारत लौटने से पहले नैरोबी विश्वविद्यालय में छात्रों को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने ये बातें कहीं. 
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
पीएम ने कहा कि घृणा और आतंक मुक्त विश्व की वकालत की और कहा कि आर्थिक विकास के लाभ का फायदा उठाने के लिए लोगों और समाज की सुरक्षा जरूरी है. किसी का नाम लिए बिना पीएम मोदी ने कहा कि घृणा और हिंसा की बात करने वाले हमारे समाज के तानेबाने के समक्ष खतरा उत्पन्न कर रहे हैं. कट्टरपंथ का मुकाबला करने की जरूरत को रेखांकित करते हुए उन्होंने कहा कट्टरपंथी विचारधारा का मुकाबला करने के लिए युवा एक जवाबी अवधारणा तैयार करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकते हैं. 
 
Stay Connected with InKhabar | Android App | Facebook | Twitter
 
उल्लेखनीय है कि बांग्लादेश ने नाइक के पीस टीवी पर पाबंदी लगा दी है. दुबई से प्रसारित होने वाला इस चैनल पर भारत में वर्षों से पाबंदी लगी हुई है. लेकिन कई केबल ऑपरेटर इसे गैरकानूनी तरीके से दिखाते हैं. अब ऐसे चैनलों को कड़ी सजा की चेतावनी दी गई है.