नई दिल्ली. विदेशी दौरे से लौटने के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कश्मीर में भड़की हिंसा का जायजा लेने और इस पर रोकथाम के लिए एक हाई लेवल मीटिंग बुलाई. बैठक में गृहमंत्री राजनाथ सिंह, रक्षामंत्री पर्रिकर, विदेशमंत्री सुषमा स्वराज, वित्तमंत्री अरुण जेटली के अलावा राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार के साथ कई अन्य अधिकारी शामिल हुए. इस बैठक में हिजबुल कमांडर बुरहान वानी के एनकाउंटर के बाद कश्मीर में बिगड़ते हालातों की समीक्षा की गई.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
केंद्र सरकार के एक वरिष्ठ अधिकारी ने अनुसार प्रधानमंत्री को वानी के मारे जाने से कश्मीर घाटी में पैदा हुई हालत का ब्योरा दिया गया. वानी के मारे जाने की खबर के बाद भड़की हिंसा में राज्य में अब तक 30 लोगों की जान जा चुकी है.
 
Stay Connected with InKhabar | Android App | Facebook | Twitter
 
इससे पहले राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल प्रधानमंत्री के दौरे में उनके साथ थे. वह अपनी यात्रा में कटौती कर सोमवार को दिल्ली लौट आए और गृह मंत्री राजनाथ सिंह, रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर, वित्त मंत्री अरुण जेटली के साथ एक सुरक्षा समीक्षा बैठक में शामिल हुए.