नई दिल्ली. सामाजिक कार्यकर्ता तीस्ता सीतलवाड़ के फ्रीज किए गए बैंक खातों को लेकर सुप्रीम कोर्ट ने गुजरात सरकार से जवाब मांगा है. इसके साथ ही सोमवार को मामले की सुनवाई के बाद कोर्ट ने तीस्ता सीतलवाड़ से गुजरात सरकार को याचिका की कॉपी सौंपने को कहा है. सुनवाई की अगली तारीख 17 अगस्त मुकर्रर की गई है.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
अदालत में सुनवाई के दौरान तीस्ता की ओर से पेश वकील कपिल सिब्बल ने कहा कि गुजरात पुलिस ने तीस्ता के दो निजी खातों के अलावा सिटीजन फॉर जस्टिस एंड पीस संगठन का बैंक खाता भी फ्रीज कर दिया है, जबकि आरोप सबरंग ट्रस्ट पर लगे हैं. सबरंग का खाता भी फ्रीज है. इस पर गुजरात सरकार की ओर से कहा गया कि उन्हें अभी तक याचिका की कापी नहीं मिली है.
 
Stay Connected with InKhabar | Android App | Facebook | Twitter
 
तीस्ता सीतलवाड़ और उनके पति जावेद पर आरोप है कि 2002 के गुजरात दंगों के दौरान गुलबर्ग सोसायटी में हुई तबाही की याद में म्यूजियम बनाने के लिए जुटाए गए चंदे में हेराफेरी की गई. अहमदाबाद में इस बाबत केस दर्ज किया गया है.