मुंबई. केंद्रीय गृह राज्य मंत्री किरन रिजिजू ने कहा है कि जाकिर के मामले पर नजर बनी हुई है, गृह मंत्रालय मामले को देख रहा है. हम जाकिर के फंड और भाषणों की जांच कर रहे हैं. एनआईए ने जाकिर नाईक की तकरीरों की उसके एनजीओ इस्लामिक रिसर्च फाउंडेशन (IRF) को विदेशों से मिलने वाले फंड की भी जांच शुरू हो गई है. बता दें कि अपने विवादित भाषणों से आतंक को बढ़ावा देने के आरोपी जाकिर नाईक सोमवार को गिरफ्तारी के डर से भारत नहीं लौटे हैं. 
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
एनआईए ने जाकिर नाईक की तकरीरों की पड़ताल शुरू कर दी है. इस बात की जांच की जा रही है कि कहीं इस्लाम के नाम पर भाषण देने वाले जाकिर अपने भाषणों के जरिए लोगों को आतंक के रास्ते पर तो नहीं ढकेल रहे हैं. एटीएस और एनआईए ने बताया कि अभी उनके पास जाकिर नाइक को लेकर किसी तरह का ठोस सबूत नहीं है और अभी नाइक के भाषणों की प्रमाणिकता की जांच की जा रही है.
 
‘फिलहाल बंद रहेगी अमरनाथ यात्रा’
किरन रिजिजू ने कहा है कि तीर्थ यात्रियों की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए अमरनाथ यात्रा को अस्थायी रूप से रोके जाने का फैसला किया गया है. जब तक उनकी सुरक्षा की पूरी जांच नहीं हो जाती और घाटी के हालात के सुधरने तक ये फैसला लिया गया. 
 
कश्मीर घाटी में हिंसा के चलते अमरनाथ यात्रा रोक दी गई है. रिपोर्ट्स के अनुसार सरकार घाटी में हालात सामान्य होने का इंतजार कर रही है. यात्रा रोके जाने के कारण करीब दस हजार श्रद्धालु जम्मू में फंसे हुए हैं. हालांकि यात्रा रोके जाने के बाद तीसरे दिन जम्मू और घाटी के बीच फंसे श्रद्धालुओं को सुरक्षित जगह तक पहुंचा दिया गया है. 
 
‘मणिपुरी लड़की के साथ नस्लभेद की रिपोर्ट मिली’
केंद्रीय गृह राज्य मंत्री किरन रिजिजू ने कहा है कि आईजीआई एयरपोर्ट के इमिग्रेशन डेस्क पर मणिपुर की महिला के साथ नस्लभेद की रिपोर्ट मिली है, हमने ब्यौरा मांगा है. जब हमें पूरा ब्यौरा मिले जाएगा तो दोषी के खिलाफ कड़ी  कार्रवाई की जाएगी. किसी के साथ इस तरह का बर्ताव सही नहीं है. ये मणिपुरी लड़की के साथ गलत हुआ है.
 
Stay Connected with InKhabar | Android App | Facebook | Twitter
 
दिल्ली के इंदिरा गांधी इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर इमिग्रेशन ऑफिसर द्वारा एक मणिपुरी युवती के साथ नस्लीय टिप्पणी करने का मामला सामने आया है. यह घटना शनिवार को आईजीआई एयरपोर्ट के टी-3 टर्मिनल पर हुई. बतौर मोनिका, जब वे इमिग्रेशन डेस्क पर पहुंचीं तो उनसे इमिग्रेशन ऑफिसर ने पूछा- पक्का इंडियन हो? फिर ऑफिसर ने उससे पूछा कि देश में कितने राज्य हैं? मणिपुर से किन-किन राज्यों की सीमा लगी है?’ मोनिका ने बताया है कि इस दौरान वह हंसी का पात्र थीं, क्योंकि दूसरे काउंटर पर खड़ी महिला हंस रही थी.