नई दिल्ली. पिछले कुछ सालों से कांग्रेस के प्रत्यक्ष-अप्रत्यक्ष हमलों का सामना कर रहे उद्योगपति गौतम अडानी ने आखिरकार कांग्रेस के खिलाफ मुंह खोला हैं. उन्होंने चुनाव प्रचार में मोदी द्वारा अपने विमान के उपयोग पर कांग्रेस के आरोपों का जवाब दिया है. अबतक कांग्रेस या उसके नेताओं का नाम लिये बिना गौतम अडानी खुद पर लगाये जाने वालों का आरोपों का जवाब मीडिया के माध्यम से देते रहे हैं, लेकिन इस बार उन्होंने सीधे जवाब दिया है.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
इकोनॉमिक्स टाइम्स के अनुसार गौतम अडानी ने कहा है कि कांग्रेस उनकी आलोचना तर्कों के बजाय राजनीतिक एंगल से कर रही है. उन्होंने कहा है कि कांग्रेस नेता जयराम रमेश ने उनके बारे में जो बातें कहीं हैं, उनमें तथ्यात्मक गलतियां हैं और जयराम रमेश राजनीतिक सुविधा के आधार पर दलीलें देते हैं. उन्होंने कहा है कि छत्तीसगढ़ में माइनिंग प्रोजेक्ट क्लियरेंस का आदेश पर्यावरण मंत्री के रूप में जयराम रमेश ने दी थी और यह पर्यावरण मंत्री का पद छोड़ने से पहले उनका आखिरी एक्जक्यूटिव ऑर्डर था.  
 
Stay Connected with InKhabar | Android App | Facebook | Twitter
 
गौतम अडानी ने कहा है कि रमेश गलत बात कह रहे हैं, क्योंकि वह माइन अडानी ग्रुप का नहीं बल्कि राजस्थान सरकार का है और अडानी ग्रुप उसमें सिर्फ कांट्रेक्टर की भूमिका में था. उन्होंने कहा कि जिस वक्त उसे स्वीकृति दी गयी है, उस वक्त तो राजस्थान में कांग्रेस की सरकार थी.