श्रीनगर. कश्मीर में पैदा हुए हालात पर जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला के ट्वीट से भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) ने पलटवार किया है. बीजेपी ने कहा है कि आतंकी सगंठन हिजबुल मुजाहिद्दीन का कमांडर बुरहान वानी उमर अब्दुल्ला सरकार का देन था. बीजेपी ने ये भी कहा कि उमर के ट्वीट से बुरहान के लिए उनकी नरम दिली का पता चलता है.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
बता दें कि उमर अब्दुल्ला ने अपने ट्वीट के जरिए हिज्बुल मुजाहिदीन के टॉप कमांडर बुरहान वानी की मौत के बाद इससे जुड़े कुछ सवाल उठाए थे. लब्बोलुआब यह है कि उनके मुताबिक, जिंदा रहते हुए सोशल मीडिया के मार्फत वह जो कुछ कर सकता था, मौत के बाद ज्यादा खतरनाक साबित होगा. उन्होंने ट्वीट करके कहा है-  मेरे शब्दों पर गौर करें. आतंकवादियों की भर्तियां बुरहान जितनी अपनी मौत के बाद कर सकता है, वह उस सबकुछ से कहीं ज्यादा है जो कुछ वह सोशल मीडिया के जरिए कर सकता था.
 
पिछली रात जब बुरहान के मारे जाने की खबर आई तब ही पूर्व सीएम अब्दुल्ला ने ट्वीट करके कहा था कि अगर यह खबर सही है तो कश्मीर के लिए  आने वाले समय तनावपूर्व होंगे.
 
उन्होंने ट्वीट करके कहा था- बुरहान न तो बंदूक उठाने वालों में पहला है और न ही वह आखिरी है. नेशनल कॉन्फ्रेंस ने यह हमेशा कहा है कि एक राजनीतिक समस्या का निदान राजनीतिक तरीके से ही हो सकता है.
 
बता दें कि आतंकी सगंठन हिजबुल मुजाहिद्दीन का कमांडर बुरहान वानी जम्मू-कश्मीर पुलिस ने एनकाउंटर में मारे जाने के बाद श्रीनगर अलगावादियों ने जमकर विरोध प्रदर्शन किया. इस विरोध प्रदर्शन में सुरक्षा बलों और प्रदर्शनकारियों के बीच झड़प में 21 लोगों की मौत हो गई है और 100 जवानों समेत 300 से ज्यादा जख्मी हो गए हैं.