नई दिल्ली. दिल्ली में कॉल डीटेल रिकॉर्ड (CDR) लीक मामले में पकड़े गए आरोपियों को सोमवार को कोर्ट में पेश किया जा सकता है. रिपोर्ट्स के अनुसार दिल्ली पुलिस क्राइम ब्रांच ने जासूसी करने के लिए गैरकानूनी तरीके से कॉल डीटेल रिकॉर्ड निकालने वाले इन आरोपियों के गिरोह का पर्दाफाश किया था. 
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
 
डिटेल के बदले मिलती थी मोटी रकम
क्राइम ब्रांच अधिकारी से मिली जानकारी के मुताबिक ये गिरोह खासतौर पर प्राइवेट डिटेक्टिव एजेंसी को कॉल डिटेल बेचा करता था. इसके लिए उसे मोटी रकम दी जाती थी. पुलिस ने इस गिरोह के चार सदस्य को गिरफ्तार कर इनके पास से कई लोगों के कॉल डिटेल, कंप्यूटर और लैपटॉप भी बरामद किया है.
 
Stay Connected with InKhabar | Android App | Facebook | Twitter
 
क्राइम ब्रांच को मिली थी सूचना
क्राइम ब्रांच सूत्रों के अनुसार उनकी टीम को सूचना मिली थी कि स्कोर्पियन वेरीफिकेशन एंड कंसलटेंसी प्राइवेट लिमिटेड नाम से जासूसी एजेंसी कंपनी चलाने वाला एक शख्स रुपये लेकर किसी का भी कॉल डिटेल रिकॉर्ड मुहैया करवा रहे हैं.