भोपाल. मध्यप्रदेश में जोरदार बारिश और बाढ़ का कहर जारी है. प्रदेश में बारिश के कारण अलग-अलग जिलों में अब तक 15 लोगों की मौत हो गई है. अगले 24 घंटों में इंदौर, सागर, दमोह, सतना, पन्ना, छतरपुर, विदिशा, भोपाल, रायसेन, होशंगाबाद, राजगढ़, आगर, शाजापुर, अशोकनगर, जबलपुर, नरसिंहपुर आदि जिलों में अलर्ट जारी किया गया है.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
CM ने हेल्पलाइन नं जारी किया
मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने बाढ़ प्रभावित इलाकों में मदद के लिए 24×7 हेल्पलाइन नंबर जारी किया है. शिवराज ने कहा, ‘1079 आपातकालीन हेल्पलाइन नंबर जारी किया गया है. यह नंबर बाढ़ प्रभावित इलाकों में रेस्क्यू ऑपरेशन के लिए जारी किया गया है. यह नंबर चौबीसों घंटे काम करेगा.’
 
रायसेन में बीना नदी का जलस्तर बढ़ा 
मध्य प्रदेश के रायसेन में भारी बारिश की वजह से बीना नदी का जलस्तर भी बढ़ गया है. नदी में भोपाल-सागर मार्ग पर बना पुल भी पानी में डूब चुका है, जिसकी वजह से यह रास्ता बंद हो गया है. और 50 से 60 गांवों का संपर्क भी टूट गया है. 
 
 
श्योपुर में पार्वती नदी उफान पर 
श्योपुर में भी भारी बारिश की वजह से पार्वती नदी का जलस्तर बढ़ गया है. जिससे श्योपुर-कोटा मार्ग पर बना पुल डूब गया और रास्ता बंद हो गया है. जिसके चलते लोगों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है. कोटा जाने वाला रास्ता बंद हो गया है.
 
 
CM ने बुलाई बैठक
राज्य में भारी बारिश के कारण स्थिति लगातार बिगड़ती जा रही है, जिसको देखते हुए हालात का जायजा लेने के लिए शिवराज ने वरिष्ठ अधिकारियों के साथ आपातकालीन बैठक की थी. बैठक के दौरान बाढ़ से निपटने के लिए उठाए जाने वाले कदमों पर चर्चा की गई.
 
Stay Connected with InKhabar | Android App | Facebook | Twitter
 
बता दें कि बीते चार दिनों से हो रही लगातार बारिश से प्रदेश में जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया है, लेकिन अभी इसके थमने के आसार नहीं है. मौसम विभाग ने अगले 24 घंटे में और भारी बारिश की भविष्यवाणी की है. मौसम विभाग का कहना है कि भोपाल सहित प्रदेश के कुछ क्षेत्रों में भारी बारिश हो सकती है. जिन जगहों पर भारी बारिश की संभावना है उनमें सागर, दमोह, सतना, पन्ना, छतरपुर, विदिशा, भोपाल, रायसेन, होशंगाबाद, राजगढ़, आगर, शाजापुर, अशोकनगर, जबलपुर, नरसिंहपुर आदि शामिल हैं.