नई दिल्ली. खाद्य मंत्री रामविलास पासवान ने अनुमान लगाया है कि बेहतर मानसून के कारण चालू फसल वर्ष में दलहन का उत्पादन 18 प्रतिशत बढ़कर दो करोड़ टन हो सकता है. जिसके कारण खुदरा कीमतों को कम करने में मदद मिल सकती है. पासवान ने कहा कि केन्द्र सरकार दलहन की खुदरा कीमतों को नियंत्रित करने के लिए प्रतिबद्ध है.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
राज्यों से बराबर की जिम्मेदारी लेने को कहते हुए मंत्री ने कहा कि राज्यों को केन्द्रीय बफर स्टॉक से दलहनों की उठान करनी चाहिए. खुदरा वितरण के लिए इसकी कीमत 120 रूपए प्रति किलो से अधिक नहीं होनी चाहिए. फसल वर्ष 2016-17 जुलाई से जून में उत्पादन संभावना के बारे में पूछने पर पासवान ने कहा कि वित्तमंत्री को कहा गया है कि इस वर्ष दलहन उत्पादन दो करोड़ टन का होगा. यह बाजार में कीमतों को कम करने में मदद करेगा.
 
Stay Connected with InKhabar | Android App | Facebook | Twitter
 
सूखा पडने के कारण फसल वर्ष 2014-15 में दलहन उत्पादन घटकर एक करोड़ 71.5 लाख टन रह गया जो उसके पिछले वर्ष में 1.9 करोड़ टन का हुआ था. खराब मानसून रहने के कारण वर्ष 2015-16 में दलहन उत्पादन घटकर एक करोड़ 70.6 लाख टन रह गया. वहीं दलहन की वार्षिक घरेलू मांग 2.35 करोड़ टन की है.