नई दिल्ली. जल्द ही रेलवे टिकट बुक कराने के लिए आधार कार्ड जरूरी हो जाएगा. सूत्रों के अनुसार भारतीय रेलवे ने यात्री टिकट सेवा को आधार कार्ड से जोडऩे की पूरी तैयारी कर ली है. अधिकारियों ने कहा है कि इस योजना का उद्देश्य टिकटों की कालाबाजारी पर रोकथाम लगाना है.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
रेलवे का यह निर्णय पिछले साल सुप्रीम कोर्ट द्वारा आधार कार्ड को लेकर की गई टिप्पणी के संदर्भ में आया है. सुप्रीम कोर्ट ने कहा था कि आधार योजना को केवल सरकारी योजनाओं तक ही सीमित नहीं रखा जा सकता.  बता दें कि आधार कार्ड योजना की शुरूआत आम जनता की मदद के लिए 7 साल पहले की गई थी. इसका लक्ष्य लोगों को बैंकिंग अथवा अन्य सेवाओं के उपयोग लिए एक विशिष्ट पहचान नंबर उपलब्ध कराना था.
 
सूत्रों के अनुसार, इस योजना को दो चरणों में लागू किया जाएगा. पहले चरण में वरिष्ठ नागरिक, फ्रीडम फाइटर और दिव्यांग जैसी आरक्षित छूटों के लिए आधार कार्ड जरूरी किया जाएगा. रेलवे मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी के मुताबिक प्रथम चरण के लिए नीति 15 दिन में स्वीकार और लागू होगी.
 
Stay Connected with InKhabar | Android App | Facebook | Twitter
 
दूसरे चरण में लगभग दो महीने लगेंगे. इस चरण में रेलवे की सभी सेवाओं को आधार कार्ड से जोड़ दिया जाएगा. इसका मतलब रेलवे टिकट बुक कराने के लिए भी आधार कार्ड की आवश्यकता होगी. शुरूआत में आधार कार्ड की जरूरत सिर्फ आरक्षित टिकट बुक कराने के लिए ही जरूरी होगा लेकिन बाद में इसे सभी प्रकार के टिकटों के लिए अनिवार्य कर दिया जाएगा.  अधिकारियों ने कहा कि अधिकतर लोग आधार कार्ड से जुड़े हुए हैं, इसलिए इस योजना को लागू करने में ज्यादा परेशानी नहीं होगी.