नई दिल्ली. गंगा को अविरल एवं निर्मल बनाने के लिए मोदी सरकार नमामि गंगे कार्यक्रम के तहत गुरुवार को देशभर में विभिन्न स्थानों पर 231 परियोजनाओं की शुरूआत करेगी, जिसमें नदी को साफ करने के लिए एसटीपी संयंत्र स्थापित करने की योजना शामिल है.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
केंद्रीय जल संसाधन, नदी विकास और गंगा संरक्षण मंत्री उमा भारती ने बताया कि ये परियोजनाएं उत्तराखंड, उत्तर प्रदेश, बिहार, झारखंड, पश्चिम बंगाल, हरियाणा और दिल्ली में शुरू की जा रही हैं. इन परियोजनाओं में घाटों का नवीनीकरण, जलमल शोधन संयंत्र (एसटीपी) स्थापित करना, वृक्षारोपण एवं जैव विविधता संरक्षण शामिल है. यह योजना प्रारंभ में एक साथ 104 स्थानों पर सभी पांच गंगा बेसिन वाले राज्यों में शुरू की जाएगी.
 
Stay Connected with InKhabar | Android App | Facebook | Twitter
 
मंत्री ने बताया कि उत्तराखंड के देहरादून, गढ़वाल, टिहरी गढ़वाल, रूद्र प्रयाग, हरिद्वार और चमोली जिलों में 47 परियोजनाएं शुरू की जाएंगी। मुख्य कार्यक्रम हरिद्वार में आयोजित होगा, जिसमें उमा भारती के साथ उत्तराखंड के मुख्यमंत्री हरीश रावत और केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी, चौधरी बीरेन्दर सिंह और महेश शर्मा मौजूद रहेंगे.