नई दिल्ली. भ्रष्टाचार के आरोप में सीबीआई रिमांड पर भेजे गए प्रधान सचिव राजेंद्र कुमार को दिल्ली सरकार ने सस्पेंड कर दिया गया है. दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने  राजेंद्र कुमार के  गिरफ्तारी वाले दिन से ही सस्पेंशन के ऑर्डर दिए थे.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
बता दें कि राजेंद्र कुमार को पटियाला हाउस कोर्ट ने 5 दिन की केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) रिमांड पर भेजा है. रिपोर्ट्स के मुताबिक सीबीआई ने 10 दिन की रिमांड की मांग की थी. दरअसल राजेंद्र कुमार पर 50 करोड़ के भ्रष्टाचार का आरोप है जिसमें उन्होंने सरकारी ठेके देने में गड़बड़ी की थी. सीबीआई ने राजेंद्र को सोमवार को गिरफ्तार किया था. 
 
अशोक कुमार ने कबूला!
राजेंद्र कुमार की मुश्किलें बढ़ सकती हैं क्योंकि उनके साथ-साथ एंडेवर कंपनी के 4 डॉयरेक्टरों को तरुण शर्मा, दिनेश गुप्ता, संदीप कुमार, अशोक कुमार गिरफ्तार किया गया था. और सूत्रों के अनुसार सीबीआई पूछताछ में अशोक कुमार ने बात कबूल ली है कि उसने राजेंद्र कुमार के कहने पर रिश्वत ली है.
 
Stay Connected with InKhabar | Android App | Facebook | Twitter
 
क्यों हुई है कार्रवाई
आप सरकार की दिल्ली डॉयलोग कमीशन के पूर्व सदस्य सचिव जोशी ने ही केजरीवाल के प्रिंसिपल सेक्रेट्री राजेंद्र कुमार की शिकायत की थी. इसके बाद ही दिल्ली सचिवालय स्थित सीएम कार्यालय पर सीबीआई द्वारा छापेमारी की गई. राजेंद्र पर आरोप है कि उन्होंने अपने पद का दुरूपयोग कर कुछ ख़ास कंपनियों को ही सारे सरकारी ठेके दे दिए.