नई दिल्ली. केंद्र सरकार ने चालू वित्त वर्ष में किसानों को चार प्रतिशत ब्याज पर ऋण देने की योजना को मंजूरी प्रदान कर दी है. सरकार ने इसके लिए 18276 करोड़ रुपए का आवंटन किया है. प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की अध्यक्षता में हुई मंत्रिमंडल की बैठक में इस महत्वपूर्ण योजना को मंजूरी दी गई.  
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
इस योजना के तहत सरकारी बैंक, निजी बैंक, सहकारी बैंक और क्षेत्रीय ग्रामीण बैंक एक वर्ष की अवधि के लिए तीन लाख रुपए तक का अल्पकालिक कृषि ऋण देंगे. केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा कि सरकारी बैंकों के साथ ही निजी बैंकों, क्षेत्रीय ग्रामीण बैंकों और सहकारी बैंकों से किसानों को तीन लाख रुपए तक के अल्पकालिक ऋण देने वाली योजना मंजूर की गई है. 
 
Stay Connected with InKhabar | Android App | Facebook | Twitter
 
उन्होंने कहा कि यह ऋण नौ प्रतिशत ब्याज पर मिलेगा, लेकिन सरकार इस पर 5 प्रतिशत की छूट देगी जिससे इस ऋण के लिए 4 प्रतिशत ब्याज का भुगतान करना होगा. उन्होंने कहा कि जो किसान एक वर्ष में ऋण का भुगतान करने में विफल रहेंगे, उन्हें ब्याज में मात्र दो प्रतिशत की छूट मिलेगी. प्रसाद ने कहा कि यह ऋण सभी फसलों के लिए होगा और छोटे किसान जो छह महीने तक के लिए ऋण लेंगें उन्हें ब्याज में दो प्रतिशत की छूट मिलेगी और उन्हें ऋण पर 7 प्रतिशत ब्याज देना होगा.