अहमदाबाद. ओडिशा के पुरी में बुधवार से भगवान जगन्नाथ रथयात्रा निकलेगी. रथ यात्रा में दुनियाभर से 10 लाख से अधिक भक्तों के पहुंचने की संभावना है. इसके लिए ओडिशा सरकार की तरफ से सभी सुरक्षा के आवश्यक इंतजाम किए गए हैं. अहमदाबाद की रथयात्रा पुरी में होने वाली रथयात्रा से काफी अलग है. पुरी की रथयात्रा 9 दिन चलती है वहीं अहमदाबाद की रथयात्रा सिर्फ एक ही दिन चलती है. 
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
रथयात्रा के दौरान भगवान जगन्नाथ अपने बड़े भाई बलभद्र और बहन सुभद्रा के साथ रथ में सवार होकर मौसी के घर जाते हैं. भगवान जगन्नाथ के रथ को खींचने के लिए श्रद्धालुओं में होड़ रहती है. बुधवार सुबह ‘छर पहनरा’ नामक अनुष्ठान पूरा होने के बाद गजपति राजा पालकी में लाए जाएंगे और इन तीनों रथों की विधिवत पूजा और ‘सोने की झाड़ू’ से रथ मण्डप और रास्ते को साप किया जायेंगे. 
 
पुरी में रथ यात्रा की सुरक्षा व्यवस्था के कड़े इंतजाम किए गए हैं. रथ यात्रा की सुरक्षा में पुलिस के आला अधिकारियों के अलावा तकरीबन साढ़े सात हजार सुरक्षा कर्मियों को तैनात किया गया है. अहमदाबाद में भी रथ यात्रा का आयोजन किया जा रहा है.
 
Stay Connected with InKhabar | Android App | Facebook | Twitter
 
अहमदाबाद में पिछले 139 साल से इस धार्मिक रथ यात्रा का आयोजन किया जाता है, जिसमें देश विदेश से शामिल होने के लिए लाखों लोग आते हैं.