नई दिल्ली. राजधानी दिल्ली में पानी मीटर खरीद मामले में पूर्व मुख्यमंत्री शीला दीक्षित से पूछताछ होगी. एंटी करप्शन ब्यूरो (एसीबी) ने नोटिस जारी कर उन्हें पूछताछ के लिए बुलाया है. बता दें कि दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की 49 दिन की सरकार में शीला दीक्षित के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया गया था.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
शीला पर आरोप लगा था कि उन्होंने ढाई लाख पानी के मीटर लगाने के लिए सरकारी धन को पानी की तरह बहाया था. एसीबी ने हाल ही में 400 करोड़ रुपए के इस कथित घोटाले में पूर्ववर्ती शीला दीक्षित सरकार और वर्तमान अरविंद केजरीवाल सरकार के खिलाफ एफआईआर दर्ज की थी.
 
 
टैंकर घोटाले में ACB के सामने पेश हुए कपिल मिश्रा
दूसरी ओर वाटर टैंकर घोटाल में  दिल्ली के जलमंत्री कपिल मिश्रा टैंकर घोटाले मे एसीबी के सामने पेश हुए. उन्होंने मोदी सरकार पर पूर्व मुख्यमंत्री शीला दीक्षित को बचाने का आरोप लगाया. शीला सरकार के दौरान ही टैंकर घोटाला हुआ था. दिल्ली में एसीबी दफ्तर जाते वक्त कपिल मिश्रा के साथ समर्थकों का बड़ा हुजूम था.
 
Stay Connected with InKhabar | Android App | Facebook | Twitter
 
टैंकर घोटाले में पूछताछ के लिए कपिल मिश्रा एसीबी के सामने हाजिर हुए. कपिल मिश्रा पर आरोप है कि उन्होंने घोटाले से जुड़ी रिपोर्ट को करीब साल भर तक दबा कर रखा और उस पर कार्रवाई नहीं की. हाल ही बीजेपी नेता विजेंद्र गुप्ता की शिकायत पर 400 करोड़ रुपये के इस कथित घोटाले में शीला दीक्षित सरकार और अरविंद केजरीवाल सरकार के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई थी.