नई दिल्ली. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी मंत्रिमंडल का दूसरा विस्तार हो रहा है. मंत्रिमंडल में शामिल होने वाले नेताओं का लाइव कवरेज सीधे राष्ट्रपति भवन से. रिपोर्ट के मुताबिक मंत्रिमंडल में 19 नए चेहरे शामिल हुए, वहीं 6 मंत्रियों की छुट्टी की खबर आ रही है.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
इन मंत्रियों ने ली शपथ
प्रकाश जावड़ेकर और वियज गोयल कैबिनेट मंत्री बनाए गए.
महाराष्ट्र
सुभाष भामरे महाराष्ट्र के धुले से सांसद हैं. पेशे से डॉक्टर सुभाष पहली बार सांसद बने हैं. देश के बड़े कैंसर सर्जरी विशेषज्ञ हैं.
आरपीआई चीफ रामदास अठावले ने मंत्री पद की शपथ ली. जाने-माने दलित नेता हैं.  3 बार लोकसभा के सदस्य रहे, पहली बार मंत्री बने.
राजस्थान
पी पी चौधरी राजस्थान  के पाली से सांसद हैं. सुप्रीम कोर्ट के सीनियर वकील हैं. 2014 में पहली बार लोकसभा सांसद बने. सीखी जाति से आते हैं.
सीआर चौधरी नागौर से सांसद हैं. राजस्थान लोक सेवा आयोग के अध्यक्ष रह चुके हैं. पहली बार सांसद बने हैं.
अर्जुन राम मेघवाल 2014 में दूसरी बार सांसद चुने गए. आईएएस अधिकारी रह चुके हैं. साइकिल से संसद आने के लिए मशहूर हैं. बीकानेर से सांसद हैं.
यूपी
अनुप्रिया पटेल उत्तर प्रदेश के मिर्जापुर से सांसद हैं. 2014 में पहली बार लोकसभा सांसद बनीं. कुर्मी जाति की अनुप्रिया अपना दल से सांसद हैं.
कृष्णा राज शाहजहांपुर से सांसद हैं. दो बार यूपी में विधायक रही हैं. दलित समुदाय से आती हैं.
महेंद्र नाथ पांडेय. 1991 में पहली बार विधायक बने थे, चंदौली उत्तर प्रदेश से सांसद हैं. पहली बार सांसद और केंद्रीय मंत्री बने हैं.
मध्य प्रदेश
मनसुखभाई मंडाविया दाहौद से सांसद हैं. साल 2012 से राज्यसभा सांसद हैं. 2002 में पहली बार विधायक बने. रीयल एस्टेट से संबंधित समिति के सदस्य हैं.
एम जे अकबर- 2016 में एमपी से राज्यसभा सांसद चुने गए हैं., 1989-91 में बिहार किशनगंज से सांसद रहे, जाने-माने पत्रकार हैं.
मंडला से सांसद फग्गन सिंह कुलस्ते ने मंत्री पद की शपथ ली.
अनिल माधव दवे पहली बार 2009 में राज्यसभा सदस्य चुने गए. सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय की कमेटी में रहे हैं.
उत्तराखंड
अजय टम्टा उत्तराखंड के युवा नेता हैं. दलित समाज से आते हैं. उत्तराखंड अलमोड़ा से सांसद हैं. मोदी सरकार में उत्तराखंड से पहले मंत्री.
गुजरात
जसवंत सिंह भाभोर आदिवासी नेता  हैं. गुजरात सरकार में मंत्री रह चुके हैं. 1995 से 2014 तक पांच बार विधायक रहे हैं.
पुरुषोत्तम रुपाला अभी बीजेपी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष हैं. गुजरात में मंत्री और प्रदेश अध्यक्ष रह चुके हैं. 1991 में पहली बार विधायक चुने गए.
पश्चिम बंगाल
एस एस अहलूवालिया 4 बार राज्यसभा सांसद रहे.सिक्ख बिरादरी का बड़ा चेहरा रहे हैं.
कर्नाटक
रमेश जिगजिगानी ने मंत्री पद की शपथ ली. कर्नाटक के गृहमंत्री रहे हैं.
 
Stay Connected with InKhabar | Android App | Facebook | Twitter
 
असम
राजेंद्र गोहैन 1991 से बीजेपी के साथ आए. 1999 से लगातार चार बार सांसद बने हैं. असम में बीजेपी का बड़ा चेहरा.
एम जे अकबर- 2016 में एमपी से राज्यसभा सांसद चुने गए हैं., 1989-91 में बिहार किशनगंज से सांसद रहे, जाने-माने पत्रकार हैं.