नई दिल्ली. बांग्लादेश की राजधानी ढाका के एक रेस्टोरेंट में हुए आतंकी हमले में मारी गई 19 साल की भारतीय लड़की तारिषी जैन के अंतिम संस्कार को लेकर उसके परिवार वालों का कहना है कि वह मीडिया की चकाचौंध के बीच अपनी बेटी का अंतिम संस्कार नहीं करना चाहते. तारिषी के परिजनों ने यह संदेश विदेश मंत्रालय के द्वारा दिया है.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
तारिषी के परिजनों का कहना है कि वह शांति के साथ अंतिम संस्कार करना चाहते हैं और मीडिया इसमें दखलअंदाजी न करे. उन्होंने कहा है कि उन्हें विश्वास है कि मीडिया उनके इस फैसले का सम्मान करेगी. बता दें कि तारिषी का पार्थिव शरीर भारत लाया जा चुका है, कुछ समय बाद गुरुग्राम में अंतिम संस्कार किया जाएगा. 
 
 
तारिषी की मौत के बाद उसके घर फिरोजाबाद में मातम पसरा हुआ है. फिरोजाबाद में लोगों ने कैंडल मार्च निकालकर उसको श्रद्धांजलि दी. अंतिम संस्कार पहले तारीषी के पैतृक घर फिरोजाबाद में किया जाना था, लेकिन अब घरवालों ने तारिषी की अंत्येष्टि गुरुग्राम में कराने का फैसला किया है.
 
Stay Connected with InKhabar | Android App | Facebook | Twitter
 
बता दें कि आतंकियों ने शुक्रवार की रात ढाका के पॉश इलाके गुलशन डिप्लोमेटिक जोन की एक बेकरी में हमला बोलकर 40 लोगों को बंधक बना लिया था. जिसमें से 13 लोगों को छुड़ा लिया गया था, जबकि एक भारतीय सहित 20 विदेशी नागरिकों की मौत हो गई थी.