नई दिल्ली. ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुसलमीन (AIMIM) के अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी एक बार फिर से मुश्किल में जाते दिख रहे हैं. हैदराबाद में पकड़े गए पांच संदिग्ध युवकों को कानूनी मदद देने वाले बयान पर उनके खिलाफ यूपी की एक अदालत में शिकायत दर्ज की गई है. यह शिकायत यूपी बार काउंसिल के एक सदस्य ने की है.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
यूपी बार काउंसिल के सदस्य अनिल कुमार बख्शी की ओर से ओवैसी के खिलाफ दायर इस याचिका की सुनवाई 6 जुलाई को होगी. बख्शी ने कहा है कि ओवैसी का बयान देशद्रोह की कैटेगरी में आता है, क्योंकि उनके इस बयान से साबित होता है कि वे आतंकवाद को बढ़ावा दे रहे हैं.
 
Stay Connected with InKhabar | Android App | Facebook | Twitter
 
ओवैसी ने क्या  कहा था?
ओवैसी ने कहा, मैंने हैदराबाद से पकड़े गए युवकों के परिवार से  बात की है, जिससे पता चला है कि वे सभी बेगुनाह हैं. साथ ही मैंने पकड़े गए कथित संदिग्ध आरोपियों को मदद दिलवाने के लिए एक वरिष्ठ वकील से भी राय ली है.’