नई दिल्ली. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शहीद बंदा सिंह बहादुर की 300वीं पुण्यतिथि पर दिल्ली में एक किताब का विमोचन किया. इस कार्यक्रम में पंजाब के मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल भी मौजूद थे. 
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
मोदी ने अपने भाषण में बंदा सिंह बहादूर की जमकर तारीफ की और कहा कि बंदा बहादुर ने लोगों को जोड़कर सैनिक शक्ति बनाई. मोदी ने कहा कि बंदा बहादुर ने सारी शक्ति अपने पास नहीं रखी बल्कि आम लोगों को भी ताकत दी. इस बीच मोदी ने कहा कि बंदा बहादुर गुरु शिष्य परंपरा की मिसाल थे.
 
बता दें कि पिछले महीने ही वित्त मंत्री अरुण जेटली ने बंदा सिंह बहादुर की 300वीं पुण्यतिथि के उपलक्ष्य में चांदी का एक सिक्का जारी किया था. वहीं दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने भी हाल ही में अखबारों में विज्ञापन देकर ऐलान किया था कि बारापुला फ्लाईओवर का नाम बंदा सिंह बहादुर के नाम पर रखा जाएगा.
 
Stay Connected with InKhabar | Android App | Facebook | Twitter
 
बंदा सिंह बहादुर का जन्म 1670 में राजौरी (अब जम्मू एवं कश्मीर) में हुआ था. वह बहुत कम उम्र में ही गुरु गोबिंद सिंह के शिष्य बन गए थे और मुगल साम्राज्य का सामना करने के लिए एक सेना बनाई थी.