नई दिल्ली. मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के एक और विधायक पर गिरफ्तारी की तलवार लटकी हुई है. महरौली से विधायक नरेश यादव पर पंजाब में हिंसा भड़काने का आरोप लगा है. पंजाब के मलेर कोटला में हिंसा के आरोपी रमेश कुमार ने नरेश यादव का नाम लिया है. आरोपी कुमार ने कहा है कि मैं नरेश यादव को पहले से जानता हूं. उसे विधायक ने इस काम के लिए एक करोड़ रुपए देने का वादा किया था.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
बता दें कि 24 जून को पंजाब के मलेर कोटला में एक धर्म ग्रंथ की बेअदबी के मामला सामने आया था. आरोपी ने खुलासा किया कि इस साजिश के पीछे दिल्ली के विधायक नरेश यादव का हाथ है. हालांकि नरेश यादव ने अपने ऊपर लगे सभी आरोपों को बेबुनियाद बताया है और कहा है कि इन सब में मुझे जबरदस्ती फसाया जा रहा है. 
 
बता दें कि छुट्टी के कारण आप विधायक नरेश यादव की गिरफ्तारी टल गई है. रविवार होने की वजह से अदालत बंद भी जिसकी वजह से पुलिस को वारंट नहीं मिला. सोमवार को अदालत से वारंट लेकर नरेश यादव की गिरफ्तारी हो सकती है. 
 
ये है मामला
पिछले शुक्रवार को मलेरकोटला में अज्ञात लोगों ने धार्मिक किताब के पन्ने फाड़ कर फेंक दिये थे. इस घटना से पूरे इलाके में तनाव फैल गया था. खास समुदाय विशेष की भारी भीड़ ने स्थानीय अकाली दल विधायक के घर पर तोड़-फोड़ कर दी थी, जिसके बाद हालात को नियंत्रण में करने के लिए पुलिस को गोलियां भी चलानी पड़ी थी. बाद में इस बेअदबी मामले में 3 लोगों को गिरफ्तार कर लिया गया था.
 
Stay Connected with InKhabar | Android App | Facebook | Twitter
 
अब इन गिरफ्तार लोगों में से एक मुख्य साजिशकर्ता रमेश कुमार ने महरौली से विधायक नरेश यादव का नाम पूरी साजिश रचने के लिए लिया है. पंजाब पुलिस को रिमांड के दौरान दिए बयान में कहा है कि इसी विधायक के कहने पर उसने मुस्लिम बहुल मलेर कोटला के इलाके में तनाव फैलाने के लिए किताब के पन्ने फाड़ने की साजिश रची थी.