नई दिल्ली. मोदी सरकार में केंद्रीय मानव संसाधन विकास राज्यमंत्री उपेंद्र कुशवाहा की मुश्किलें बढ़ती जा रही हैं. राष्ट्रीय लोक समता पार्टी (रालोसपा) के संसदीय दल के नेता अरूण कुमार ने रविवार को पटना में अहम बैठक बुलाई है.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
उपेंद्र पर हो सकता है फैसला
इस बैठक में उपेंद्र कुशवाहा को पार्टी से निकालने पर भी मुहर लगाई जा सकती है. बता दें कि हवाला कारोबारी प्रदीप मिश्रा के साथ कुशवाहा का नाम सामने आने पर पार्टी के नेताओं ने बगावत कर दी. इसके बाद कुशवाहा ने पार्टी की कमेटी को भंग कर दिया.
 
 
CBI जांच कराने की मांग
रालोसपा किसान प्रकोष्ठ के बिहार प्रदेश अध्यक्ष प्रो. विजय कुशवाहा पार्टी ने राष्ट्रीय अध्यक्ष व केंद्रीय मानव संसाधन विकास राज्यमंत्री उपेन्द्र कुशवाहा और हवाला कारोबारी प्रदीप मिश्रा के साथ संबंधों की जांच सीबीआई और प्रर्वतन निदेशालय से कराने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह को पत्र लिखा है.
 
Stay Connected with InKhabar | Android App | Facebook | Twitter
 
क्या लिखा पत्र में 
विजय कुशवाहा ने लिखा कि प्रदीप मिश्रा पहले रामविलास पासवान की पार्टी एलजेपी के राष्ट्रीय युवा अध्यक्ष थे. जिसके बाद पासवान ने उन्हें पार्टी से निकाल दिया था. प्रदीप मिश्रा ने झारखंड के राज्यपाल को कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के पीए कनिष्क सिंह बनकर फोन किया था. जिसके बाद रांची पुलिस ने प्रदीप मिश्रा को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया. उसी प्रदीप मिश्रा के साथ उपेंद्र कुशवाह विदेश गए थे.