पिथौरागढ़. उत्तराखंड के पिथौरागढ़ में भारी बारिश हो रही है. बारिश की वजह से वहां लैंड स्लाइड हुआ, इसकी वजह से पांच लोगों की मौत और 30 लोगों के अब भी दबे होने की आशंका जताई जा रही है. वहीं चमोली में भी 8 लोगों की मौत खबर आई है. भारी बारिश से अब तक 13 लोगों की मारे जाने की आशंका जताई जा रही है. इसके अलावा कई लोगों के लापता होने की भी खबर है.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
इन जिलों में मकानों को भी बड़े पैमाने पर नुकसान पहुंचा है. अलकनंदा और मंदाकिनी नदियों समेत तमाम नदियां ऊफान पर हैं. नदियों के किनारे बसी बस्तियों में लोगों को अलर्ट किया गया है. चार धाम यात्रा जगह जगह बाधित हुई है और ठप है. उत्तराखंड में जारी बारिश की वजह से लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है. सबसे ज्यादा मुश्किल हालात पहाड़ी जिलों के हैं. 
 
जानकारी के अनुसार मौसम विभाग ने उत्तराखंड के अधिकांश स्थानों पर हल्की से मध्यम बारिश के साथ ही छिटपुट स्थानों खासतौर पर नैनीताल, उधमसिंह नगर और चंपावत जिलों में अगले 24 घंटों के दौरान भारी बारिश की चेतावनी दी है.
 
मौसम केंद्र ने नैनीताल, उधमसिंहनगर, चंपावत, अल्मोडा, पौडी, हरिद्वार, देहरादून और टिहरी जिलों में शनिवार सुबह से 72 घंटों के दौरान कुछ स्थानों पर भारी से बहुत भारी बारिश और अन्य पांच जिलों में छिटपुट स्थानों पर भारी बारिश की चेतावनी दी गयी है. 
 
Stay Connected with InKhabar | Android App | Facebook | Twitter
 
अलकनंदा का जलस्तर इस समय 534.04 मीटर है जबकि 535 मीटर पर खतरे की चेतावनी का जलस्तर है. फिलहाल अलकनंदा नदी खतरे के निर्धारित निशान 536 मीटर से दो मीटर बह रही है. अलकनंदा के बढ़े हुए जलस्तर से पानी तटबंधों को छूने लगा है जबकि जलविद्युत परियोजना के बांध से भी पानी लगातार छोड़ा जा रहा है.