नई दिल्ली. संसद के मानसून सत्र 18 जुलाई से 12 अगस्त तक चलने की बुधवार को धोषणा हो गई है. केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह की अध्यक्षता में हुई संसदीय मामलों की कैबिनेट समिति में यह फैसला लिया गया. मानसून सत्र में केंद्र सरकार जीएसटी बिल को राज्यसभा से पारित कराने की कोशिश करेगी.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
इस सत्र में कई महत्वपूर्ण बिल के पास होने की उम्मीद की जा रही है. पांच राज्यों के विधानसभा चुनाव नतीजों के बाद असम में ऐतिहासिक जीत और केरल और तमिलनाडु में मौजूदगी दर्ज कराने के बाद सत्तारूढ़ BJP के हौसले बुलंद हैं. यह सत्र मोदी सरकार के दो साल पूरा होने के बाद हो रहा है. फिलहाल राज्यसभा में 45 और लोकसभा में पांच विधेयक लंबित हैं.
 
 
पहले राज्यसभा में भारतीय जनता पार्टी और इसके सहयोगी सांसदों की संख्या एक समस्या थी, लेकिन चूंकि हाल के राज्यसभा चुनाव में हमने सदन में अपनी संख्या बढ़ाई है, लिहाजा इस बार जीएसटी सहित सभी महत्वपूर्ण विधेयक पारित होने की उम्मीद है.
 
Stay Connected with InKhabar | Android App | Facebook | Twitter
 
अब राज्यसभा में अकेले बीजेपी के पास 54 सदस्य हैं और सदन में एनडीए सदस्यों की कुल संख्या 62 हो गई है और 10 अन्य निर्दलीय सदस्यों ने नरेंद्र मोदी सरकार को अपना समर्थन जाहिर किया है.