नई दिल्ली. समाजिक कार्यकर्ता अन्ना हजारे ने दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को लेकर एक बड़ा बयान दिया है. अन्ना ने अपने और केजरीवाल के रिश्तों में दूरी बनाते हुए कहा कि अच्छा हुआ कि मैंने अरविंद का साथ छोड़ दिया है, नहीं तो मेरी भी ऐसी ही दुर्दशा होती. अन्ना ने यह बात शंशाक उदापुरकर के निर्देशन में अपने जीवन पर बन रही फिल्म ‘अन्ना’ के पोस्टर लॉच के दौरान कही. 
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
‘मेरा केजरीवाल से कोई रिश्ता नहीं है’
अन्ना ने कहा कि अब मेरा केजरीवाल से कोई रिश्ता नहीं है. मुझे नहीं पता क्या गलत है और क्या सही. लेकिन जब भी मैं अखबार में उसके बारे में पढ़ता हूं तो मुझे दुख होता है. वहीं दूसरी ओर जब अन्ना से दिल्ली में केजरीवाल सरकार पर लग रहे घोटाले के आरोप और आप विधायकों की बदसलूकी पर सवाल पूछा गया तो अन्ना सवाल टालते नजर आए.
 
Stay Connected with InKhabar | Android App | Facebook | Twitter
 
अन्ना के सहयोगी थे केजरीवाल
बता दें कि 2011 में अन्ना आंदोलन के समय अरविंद केजरीवाल उनके सहयोगी थे. दोनों ने साथ मिलकर जनलोकपाल बिल के लिए दिल्ली में जंतर-मंतर पर धरना दिया था. उस समय केजरीवाल अन्ना को अपना गुरु और मार्गदर्शक मानते थे. लेकिन केजरीवाल के राजनीति में जाने के बाद अन्ना  ने उनसे अपना नाता तोड़ लिया था. क्योंकि अन्ना  राजनीति में जाने के खिलाफ थे.