नई दिल्ली. भारत सरकार को विदेशों में जमा भारतीयों के काले धन के बारे में एक बड़ी कामयाबी हाथ लगी है. आयरकर विभाग ने विदेशी खातों में जमा 13 हजार करोड़ रुपये के काला धन का पता लगाया है. इस जानकारी के बाद आयकर विभाग और ईडी ने मामले की जांच शुरु कर दी है. 
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
बता दें कि इससे पहले साल 2011 में फ्रांस सरकार ने जिनेवा के एचएसबीसी बैंक में भारतीयों के द्वारा जमा कराये गए काले धन की जानकारी दी थी. आयकर विभाग के अनुसार  400 बैंक खातों में करीब 8,186 करोड़ रुपये जमा थे. काला धन पर सरकार को पता चली अब तक की यह सबसे बड़ी रकम है.
 
वहीं साल 2013 में इंटरनेशनल कंजोर्शियम ऑफ इन्वेस्टिगेटिव जर्नलिस्ट्स की वेबसाइट पर 700 विदेशी बैंक खातों में जमा 5000 करोड़ रुपये के काले धन का पता चला था. इस तरह 2011 और 2013 में मिली जानकारी को मिलाकर भारतीयों के कुल 1100 खातों में 13 हजार करोड़ रुपए की ब्लैक मनी का पता चला है.
 
Stay Connected with InKhabar | Android App | Facebook | Twitter
 
इनकम टैक्स असेसमेंट होने के बाद विभाग ने 5,377 करोड़ रुपये का टैक्स लगाया है. खाता धारकों को पहले टैक्स जमा करने के लिए 31 मार्च 2016 तक की मोहलत दी गई थी. सितंबर 2015 तक 1100 संदिग्धों में महज 638 ने 3770 करोड़ रुपये की अघोषित आय का खुलासा किया था.