नई दिल्ली. जम्मू-कश्मीर के पंपोर में हुए आतंकी हमले के बाद रक्षामंत्री मनोहर पर्रिकर ने सुरक्षाबलों को खूली छूट देते हुए कहा कि आतंकी हमले पर रुकने की जरुरत नहीं हैं उन्हें जवानों को जवाबी कार्रवाई की पूरी आजादी है. उन्होंने सीआरपीएफ जवानों की हत्या को पाकिस्तानी आतंकवादियों की हताशा का नतीजा बताया. उनमें से कई आतंकवादियों को पिछले एक साल में भारतीय बलों ने मार गिराया है.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
उन्होंने कहा, ‘‘पिछले एक साल में हमने पाकिस्तान के 25 से अधिक आतंकवादियों को मार गिराया है, जिसने हमारे देश में घुसपैठ की थी. यह हताशा का कृत्य है. उन्होंने कहा कि हमला करके पाकिस्तान ने  यह समझाने की कोशिश की है कि घाटी में अभी भी उसका प्रभाव बाकी  है, लेकिन भारत इसका सही अवसर आने पर  भरपूर जवाब देगा.
 
 
बता दें कि पंपोर इलाके में दो आतंकियों ने सीआरपीएफ के काफिले पर हमला कर दिया था. अचनाक हुए इस हमले में सीआरपीएफ के 8 जवान शहीद और 25 जवान घायल हो गए थे. इस हमले की जिम्मेदारी लश्कर-ए-तैयबा ने ली थी. पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया, ”श्रीनगर-जम्मू राष्ट्रीय राजमार्ग पर पंपोर शहर के पास नांब्लाबल में सीआरपीएफ के एक काफिले पर आतंकवादियों ने हमला कर दिया. यह काफिला श्रीनगर जा रहा था.” 
 
Stay Connected with InKhabar | Android App | Facebook | Twitter