लखनऊ. आपने कई बार पुलिसवालों को वसूली या रिश्वत लेते हुए देखा होगा, लेकिन कथित रूप से अवैध वसूली के पैसे को लेकर पुलिसवालों के आपस में ही लड़ने की पिटाई शायद ही आपने देखी हो. जानकारी के मुताबिक सड़क किनारे लगने वाली दुकानों से वसूले गए पैसों के बंटवारे को लेकर पुलिसवालों में बहस मारपिटाई में बदल गई. यहा मामला यूपी की राजधानी लखनऊ के इटौंच थाना इलाके की है.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
छुड़ाने आए साथियों की भी न सुनी
दोनों पुलिस वाले वसूली के लिए एक दूसरे को लथेड़ते हुए नाले में भी गिरे, बावजूद उसके उन्हें अपनी जिम्मेदारियों का अहसास नहीं हुआ और वह खाकी को शर्मसार करते रहे. खाकीवालों को मारपीट करते देख वहां लोगों का मजमा लग गया. दोनों को छुड़ाने के लिए उनके तीन साथी और पहुंचे, लेकिन उन्होंने उनकी एक न सुनी और वह मारपीट करते रहे
 
वीडियो वायरल
यह घटना दो दिन पुरानी बताई जा रही है, लेकिन इसका वीडियो रविवार को वायरल हुआ है. वीडियो वायरल होने के बाद पुलिस अधिकारी कार्रवाई की बात कर रहे हैं. आरोपियों की पहचान सिपाही वीरेंद्र यादव और होमगार्ड अनुज के रूप में हुई है.
 
Stay Connected with InKhabar | Android App | Facebook | Twitter
 
हर पुलिसवाले का एरिया फिक्स
इटौंजा इलाके में सब्जी की दुकान लगाने वाले एक व्यवसायी ने बताया कि यहां हर पुलिसकर्मी का पैसा बंधा हुआ है. कांस्टेबल का एक एरिया फिक्स है. वह उसी इलाके की वसूली करता है. इस दौरान अगर कोई दूसरा पुलिसकर्मी वहां पैसे वसूलता है तो वे आपस में भिड़ जाते हैं. उन्होंने आगे बताया कि दुकानवाले हर रोज पैसे देते है. तभी वह वहां दुकान लगा सकता है. इस पैसे को कलेक्ट करने के लिए एक आदमी फिक्स रहता है. वह मार्केट का सारा पैसा कलेक्ट कर बीट के सिपाही को देता है.