नई दिल्ली. कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के दामाद रॉबर्ट वाड्रा की मुश्किलें बढ़ती दिखाई दे रही हैं. प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने वाड्रा की कंपनी को मनी लॉन्ड्रिंग के एक मामले में नोटिस भेजा है. नोटिस में वाड्रा को 24 जून तक जवाब देने का समय दिया गया है. इसके साथ ही कंपनी से जुड़े दस्तावेज सौंपने का भी आदेश दिया गया है.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
वाड्रा की कंपनी स्काईलाइट हॉस्पिटैलिटी पर राजस्थान के बीकानेर के कोलायत तहसील में फर्जी तरीके से 275 बीघा जमीन खरीदने का आरोप है. पिछले महीने ही वाड्रा की जमीन से जुड़े मामले में ईडी ने छापेमारी की थी. प्रवर्तन निदेशालय ने बीकानेर में सात जगहों पर छापेमारी की थी. 
 
केंद्रीय जांच एजेंसी ने इस मामले में पिछले साल मनी लॉन्ड्रिंग का एक मामला दर्ज किया था. बीकानेर में यह जमीन साल 2010 में खरीदी गई थी. एक रिपोर्ट में इस बात का खुलासा हुआ है कि कोलायत में 16 निवासियों के नाम महाजन फील्ड फायरिंग रेंज में साल 2006-07 में जमीन आवंटित की गई थी. जिसके बाद साल 2010 में वाड्रा की कंपनी को गलत तरीके से यह जमीन बेच दी गई थी.
 
Stay Connected with InKhabar | Android App | Facebook | Twitter