नई दिल्ली. पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी की जासूसी की हाईटेक कोशिशों की भनक लगते ही इंटेलिजेंस ब्यूरो ने गृह मंत्रालय, रक्षा मंत्रालय समेत सुरक्षा एजेंसियों में खास काम देख रहे बाबुओं को मोबाइल फोन से क्या करें और क्या न करें पर एक अलर्ट जारी किया है.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
इस अलर्ट में कहा गया है कि स्मार्टफोन से कोई भी ऑफिसियल या संवेदनशील काम या बात न करें. अगर कोई एप्प डाउनलोड का मैसेज आता है तो उसे बिल्कुल भी न करें. संवदेशनील सूचना हो तो लैंडलाइन फोन या इंटरनल फोन सर्विस का इस्तेमाल करें जिसका सर्वर विभाग के कब्जे में हो.
 
अलर्ट में संवेदनशील काम देख रहे अधिकारियों से मोबाइल फोन को कभी भी कम्प्यूटर या लैपटॉप से चार्ज नहीं करने की हिदायत दी गई है क्योंकि हैक किए हुए कम्प्यूटर के जरिए चार्ज हो रहे मोबाइल का डाटा पढ़ा जा सकता है.
 
Stay Connected with InKhabar | Android App | Facebook | Twitter
 
आईबी सूत्रों के मुताबिक हर रोज़ 30-40 हैकिंग की हरकतें पकड़ में आ रही हैं इसलिए अधिकारियों को सतर्क कर दिया गया है. सूत्रों का कहना है कि आईएसआई ने कई सॉफ्टवेयर इसी मकसद से डिजाइन किए हैं कि वो भारतीय अधिकारियों के कम्प्यूटर या मोबाइल को हैक कर सके.