नई दिल्ली. बीजेपी सासंद महेश गिरि ने अनशन तोड़ दिया है. गिरि ने अनशन केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह की मौजूदगी में तोड़ा है. राजनाथ ने गिरि को नींबू-पानी पिलाया और कहा कि गिरी अनशन तोड़ रहे हैं लेकिन आंदोलन जारी रहेगा.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
गिरि मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के आवास के बाहर 3 दिन से अनशन पर बैठे थे. दरअसल गिरि ने दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को खुली बहस की चुनौती दी जो  कि दिल्ली के कॉनस्टीट्यूशन क्लब में होनी थी.
 
लेकिन केजरीवाल नहीं पहुंचे और  महेश केजरीवाल के आवास पर पहुंचे और धरने पर बैठ गए. गिरि का कहना था कि जब तक केजरीवाल बाहर आकर उनसे बात नहीं करेंगे तब तक वो उनके घर के बाहर ही बैठे रहेंगे. गिरि ने आरोप लगाते हुए कहा कि केजरीवाल हमेशा आरोप लगाकर भागने में विश्वास रखते हैं. लेकिन इस बार ऐसा नहीं होने देंगे.
 
Stay Connected with InKhabar | Android App | Facebook | Twitter
 
क्या था मामला?
दरअसल इस बहस के लिए चुनौती बीजेपी नेता करण सिंह तवर पर एनडीएमसी अधिकारी एमएम खान की हत्या को लेकर लगे आरोपों के चलते दी गई है. महेश गिरि का कहना है कि जब तक केजरीवाल बाहर आकर उनसे बात नहीं करेंगे, तब तक वो उनके घर के बाहर ही बैठे रहेंगे.